नई दिल्ली,टोक्यो ओलंपिक के 2021 तक स्थगित होने के बाद अंतरराष्ट्रीय एमेच्योर मुक्केबाजी संघ (आईबा) को उम्मीद है कि वह समय रहते अपना सुधार पूरा कर लेगा जिससे उस पर लगा प्रतिबंध ओलम्पिक से पहले हट जाए। आईबा में पद पर रहने वाले एक रूसी अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने पिछले साल वित्तीय और प्रशासन से जुड़े मुद्दों के कारण उस पर प्रतिबंध लगा दिया था और 2020 में होने वाले ओलंपिक के लिए क्वालीफिकेशन को अपने नियंत्रण में लिया था।

रुस मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष और आईबा माकेर्ट कमिशन के चैयरमैन उमर क्रेमलेव ने कहा कि कोरोना के कारण ओलंपिक 2021 तक स्थगित होने से आईबा को एक मौका मिला है कि वह जरूरी सुधार करे जिससे ओलंपिक से पहले उस पर लगा प्रतिबंध हट जाए।