राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न समस्याओं को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के पंजीकृत श्रमिकों और कर्मकारों को तात्कालिक सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया है। कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित कर संकटग्रस्त और जरूरतमंद श्रमिकों के समस्याओं के तत्काल  अथवा 24 घंटे के भीतर समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश सभी कलेक्टरों को जारी कर दिये गए हैं। राज्य शासन के श्रम विभाग द्वारा इसके लिए राज्य स्तर पर हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। संकट में फंसे अथवा जरूरतमंद पंजीकृत श्रमिक और कर्मकार हेल्प हेल्पलाइन नंबर - 9109849992 और 0771 2443809 पर संपर्क कर सकते हैं।    श्रम विभाग के सचिव द्वारा कलेक्टरों को भेजे गए पत्र में यह भी कहा गया है कि संकट की स्थिति अथवा जरूरतमंद श्रमिकों के प्रकरणों के निराकरण हेतु जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित की जाए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कलेक्टर द्वारा नामित नोडल अधिकारी तथा श्रम विभाग के सहायक श्रम आयुक्त, श्रम पदाधिकारी, सदस्य, सचिव समिति के सदस्य होंगे। समिति द्वारा प्रकरणवार सहायता एवं आवश्यकताओं का आकलन करते हुए तत्काल अथवा 24 घंटे के भीतर निर्णय कर कार्यवाही की जाएगी। इन प्रकरणों के व्यय की पूर्ति के लिए श्रम विभाग द्वारा जिलों को पृथक से आवंटन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा जिले में भी जिला कलेक्टर द्वारा जिला हेल्पलाइन नंबर जारी कर इसके लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए।