भोपाल।प्रदेश की शिवराज सरकार अब बेटर ऑफर पर बाजार से कर्ज उठा रही है। इससे पहले वह भारत सरकार द्वारा निर्धारित कूपन ब्याज रेट पर कर्ज ले रही थी।दरअसल शिवराज सरकार ने गत 4 नवम्बर को रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के मुम्बई कार्यालय के माध्यम से अपनी गवर्मेन्ट सिक्युरिटीज का विक्रय एक हजार करोड़ रुपयों में किया था। परन्तु इस पर कूपन इन्ट्रेस्ट रेट सात प्रतिशत वार्षिक से ज्यादा था। देश की बैंक आदि वित्तीय संस्थाओं ने इस पर कम ब्याज दर पर ये सिक्युरिटीज लेने का आफर दिया जोकि 6.76 प्रतिशत वार्षिक था। इस पर शिवराज सरकार ने 4 नवम्बर को विक्रीत अपनी सिक्युरिटीज का सौदा रद्द कर दिया और अब पुन: इसे कम ब्याज दर पर जारी किया है और इसे ले लिया है। इस एक हजार करोड़ रुपयों के कर्ज की पूर्ण अदायगी बीस साल ही होगी और साल में दो बार 4 मई एवं 4 नवम्बर को ब्याज का भुगतान करेगी।