मुम्बई । पूर्व हॉकी ओलंपियन मार्सेलस गोम्स का मानना है कि भारतीय राष्ट्रीय पुरुष टीम के नये कोच ग्राहम रीड की सबसे बड़ी परीक्षा 2020 टोक्यो ओलंपिक के क्वालीफायर मुकाबले होंगे। रीड को हाल ही में कोच बनया गया है। इससे पहले विश्व कप में टीम के क्वार्टर फाइनल में बाहर होने पर हरेंद्र सिंह को कोच पद से हटा दिया गया था। गोम्स ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘रीड के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह तय करना है कि टीम ओलंपिक क्वालिफाई करे।’’इस अवसर पर भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमए सोमाया ने कहा कि रीड के कार्यभार संभालने के साथ ही ऑस्ट्रेलियाई खेल शैली प्रभावी होगी जिस लाभ भारतीय टीम को मिलेगा। मास्को में 1980 के ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम के सदस्य सोमाया ने कहा, ‘‘ग्राहम रीड एक अनुभवी कोच हैं और वह शायद ऑस्ट्रेलियाई शैली को लागू करेंगे जो टीम के लिए फायदेमंद होगी।’’ सोमाया के अनुसर खिलाड़ियों को  पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलने के अलावा अंतिम पास पर सटीक स्ट्रोक खेलने की क्षमता बेहतर करनी होगी।