भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा कि सरकार सभी की है, सभी धर्मों और जातियों की। कोई भेदभाव नहीं है, लेकिन अगर कोई हमारी बेटियों के साथ घृणित कुछ भी करने की कोशिश करता है, तो मैं तुम्हें तोड़ दूंगा। 

उन्होंने कहा कि अब ये नहीं चलेगा, कोई अगर बहला-फुसलाकर, दबाव या लालच देकर ऐसा करने की कोशिश करेगा तो सरकार उनसे सख्ती से निपटेगी। उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं ऐसी बेटियों की जिंदगी तबाह और बर्बाद होकर नरक बन जाती है। वो दर-दर की ठोकरें खाती है। मैं सबके साथ हूं, कोई भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार से दूर नहीं है, लेकिन गड़बड़ करने की या धर्मांतरण का कुकृत्य 'लव जिहाद' जैसी चीज की तो आप तबाह और बर्बाद हो जाओगे। हम मध्य प्रदेश में ये सब नहीं चलने देंगे।

चौहान ने आज कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कर्ज माफी के नाम पर प्रदेश के किसानों को धोखा देने वाली कांग्रेस अब केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के हितों के लिए लाए गए कृषि सुधार बिल के नाम पर किसानों को गुमराह कर रही है। 
चौहान जिले के नसरुल्लागंज में 'किसान कल्याण योजना की राशि 100 करोड़ रुपये का वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज 15 हजार से ज्यादा किसानों ने किसान कृषि बिल के समर्थन में समर्थन दिया, लेकिन कर्जमाफी के नाम पर किसानों को धोखा देने वाली कांग्रेस आज किसानों के नाम पर राजनीति कर रही है। किसानों के हित में बने कानून पर वे किसानों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कानून में किसान को उपज मंडी के अलावा कहीं भी बेचने की छूट है। उन्होंने कहा कि कृषि उपज मंडियां बंद नहीं होंगी, लेकिन मंडी के अलावा अगर कोई व्यापारी किसान को फसल के अच्छे दाम दे रहा हो तो किसान मंडी के बाहर भी बेच सकता है। ये किसान की मर्जी होगी कि वो जहां चाहेगा वहां फसल बेचेगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के साथ खड़े हैं। किसान हित में बने नए कानून के अनुसार किसान फसल बोने से पहले व्यापारी के साथ अपनी उपज का कांट्रैक्ट कर सकेगा। उन्होंने कहा कि फसल खराब होने की चिंता से किसान मुक्त होगा।